दुनिया के सबसे ऊंचे रणक्षेत्र में लहराया तिरंगा, भारतीय सेना के जवानों ने सियाचिन ग्लेशियर पर किया झंडारोहण

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारतीय सेना की चिनार कोर और फायर एंड फ्यूरी कोर के जवानों ने दुनिया के सबसे ऊंचे रणक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर पर ध्वजारोहण किया. दुनिया के सबसे ठंडे रणक्षेत्र में भारतीय सेना के जवानों ने झंडा फहराने के बाद राष्ट्रगान गाया और स्वतंत्रता संग्राम के अमर शहीदों को याद किया.

पूरा भारत स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से मना रहा है. सरकार द्वारा शुरू किए गए ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम के तहत लोगों ने अपने घरों पर भी तिरंगा फहराया है, इसी बीच सेना के जवानों में भी स्वतंत्रता दिवस को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर भारतीय सेना के जवानों ने दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर पर झंडारोहण किया.

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारतीय सेना की चिनार कोर और फायर एंड फ्यूरी कोर के जवानों ने दुनिया के सबसे ऊंचे रणक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर पर ध्वजारोहण किया. दुनिया के सबसे ठंडे रणक्षेत्र में भारतीय सेना के जवानों ने झंडा फहराने के बाद राष्ट्रगान गाया और स्वतंत्रता संग्राम के अमर शहीदों को याद किया.

हिमालय के पूर्वी काराकोरम रेंज में स्थित सियाचिन ग्लेशियर विश्व के सबसे ऊंचे रणक्षेत्रों में से एक है. कड़ाके की ठंड के बीच भारतीय सेना के जवान सरहदों की रक्षा करने के लिए इन बर्फीले पहाड़ियों पर तैनात रहते हैं. जहां जिंदा रहना एक चुनौती से कम ना हो ऐसे जगहों पर भारतीय सेना के जवानों का ऐसा देशप्रेम हर भारतीय को गर्व से भर देता है.

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV