बांके बिहारी मंदिर में भगदड़ मामले को लेकर जांच शुरु, पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह पहुंचे मथुरा

जन्माष्टमी के दिन बांके बिहारी मंदिर में दों श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. जानकारी के मुताबिक ये मौतें भगदड़ मचनें से हुई थी. इसको उत्तर प्रदेश सरकार ने गंभीरता से लिया है. जिसके बाद से प्रदेश सरकार नें जांच के लिए 2 सदस्यीय टीम का गठन किया. टीम इस मामले को लेकर जांच में जुट गई है.

डेस्क: जन्माष्टमी के दिन बांके बिहारी मंदिर में दों श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. जानकारी के मुताबिक ये मौतें भगदड़ मचनें से हुई थी. इसको उत्तर प्रदेश सरकार ने गंभीरता से लिया है. जिसके बाद से प्रदेश सरकार नें जांच के लिए 2 सदस्यीय टीम का गठन किया. टीम इस मामले को लेकर जांच में जुट गई है. प्रथम चरण की जांच हेतु टीम के सदस्य पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह मथुरा पहुंचे हैं. अनुमान के मुताबिक टीम के दूसरे सदस्य अलीगढ़ के कमिश्नर भी मथुरा पहुंच सकते हैं. पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

दरअसल पूरा मामला जन्माष्टमी के दिन बांके बिहारी मंदिर में दों श्रद्धालुओं की मौत से जुड़ा हुआ है.यहां पर साल में एक बार होने वाली मंगला आरती में हुई भारी भीड़ के दबाव के कारण 2 श्रद्धालुओं की दम घुटने से मौत हो गई थी. इसको लेकर योगी सरकार नें सख्ती दिखाते हुए इस मामलें की जांच के लिए 2 सदस्यीय टीम का गठन किया था. अब उस मामलें में जांच आज से शुरु कर दी गई है.

आपको बता दें कि इस मामले को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव नें भी सरकार निशाना साधा था उन्होंनें कहा था कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मथुरा वृंदावन के बांके बिहारी मन्दिर में आधीरात दर्शनार्थियों के साथ दुःखद हादसा भाजपा सरकार के माथे पर कलंक है.

Related Articles

Back to top button