Building Collapse: बढ़ रहा मौत का आकड़ा, 12 टीम NDRF, 12 टीम SDRF के साथ 4 कंपनी PAC तैनात, एक ही परिवार के दो लोगों की मौत से कोहराम

अब्बास हैदर की पत्नी उजमा को अभी कुछ समय पहले ही रेस्क्यू करके बाहर निकाला गया था जिनकी अस्पताल में मृत्यु की घोषणा कर दी गई है। इससे पहले अब्बास हैदर की मां को भी रेस्क्यू करके निकाला गया था।

लखनऊ बिल्डिंग हादसे में एक और बड़ी खबर सामने आई है। हादसे में एक और महिला की मौत हो गई है। अब्बास हैदर की पत्नी उजमा को अभी कुछ समय पहले ही रेस्क्यू करके बाहर निकाला गया था जिनकी अस्पताल में मृत्यु की घोषणा कर दी गई है। इससे पहले अब्बास हैदर की मां को भी रेस्क्यू करके निकाला गया था।

लखनऊ बिल्डिंग हादसें में एक दु:ख भरी खबर सामने आई है। मरने वालो की संख्या में इज़ाफा होना शुरू हो गया है। बिल्डिंग हादसे में अभी तक दो लोगों के मौत की पुष्टी हो चुकी है। एक ही परिवार की दो महिलाओं की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। अब्बास की मां बेगम हैदर की मौत के बाद अब पत्नी उजमा की भी हादसे में मृत्यु हो गई है।

लखनऊ हादसे पर डीजीपी डीएस चौहान का बयान सामने आया है। डीएस चौहान ने कहा कि हमारी एनडीआरएफ की फ्रेश लगी है और एसडीआरएफ की भी फ्रेश लगी है, जो ऑफिसर्स है वो लगातार घटना स्थल पर मौजूद हैं और हम लोग कोशिश कर रहे हैं कि जितने ज्यादा संभव हो उनको सकुशल बाहर निकाल लिया जाए। उन्होने कहा कि मेडिकल सर्विसेज, बुलेंस, डॉक्टर्स हैं सब लोग लगे हुए हैं ब्लड का भी अरेंजमेंट है लेकिन जो समस्या है वो है मलबे की जो है तो उससे हम लोग डील कर रहे हैं।

डीजीपी डीएस चौहान ने कहा कि अब जैसे ये प्रतीत हो रहा है क्योंकि एक-एक कमरे को जाना पड़ रहा है तो ये अठारह घंटे से ज्यादा भी ऑपरेशन एक्सटेंड हो सकता है और अननोन एक एलिमेंट आ गया है जिसमें दो अननोन लोग बताएं जा रहे हैं फिर उनको भी तलाश करना पड़ेगा तो उसमें मिनिमम 24 से 48 घंटे का समय भी लग सकता है। डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि ये तीन सदस्यीय कमेट इसकी जाँच करेगी। घटना स्थल पर बारह टीम एनडीआरएफ की है और बारह टीम एसडीआरएफ की है। इसके अलावा चार कंपनी पीएसी अलग से लगी हुई है।

Related Articles

Back to top button
Live TV