दिवालिया होने के कगार पर बजाज हिंदुस्थान की चीनी मिलें, नहीं चूका पा रहीं गन्ना किसानों का बकाया पैसा

यूपी में निजी क्षेत्र में चीनी की सबसे बड़ी कंपनी बजाज हिंदुस्थान इन दिनों गहरे वित्तीय संकट से गुजर रही है। दरअसल बजाज हिंदुस्थान अपना ब्याज तक नहीं चुका पा रही है। जिस वजह से कंपनी के सभी बैंक खाते एनपीए हो गए है। बता दे कि भारतीय रिज़र्व बैंक की गाइडलाइन के अनुसार जब किसी लोन की किस्त लगातार तीन महीने तक न जमा हों तो वह खाता एनपीए खाता बन जाता है।

यूपी में निजी क्षेत्र में चीनी की सबसे बड़ी कंपनी बजाज हिंदुस्थान इन दिनों गहरे वित्तीय संकट से गुजर रही है। दरअसल बजाज हिंदुस्थान अपना ब्याज तक नहीं चुका पा रही है। जिस वजह से कंपनी के सभी बैंक खाते एनपीए हो गए है। बता दे कि भारतीय रिज़र्व बैंक की गाइडलाइन के अनुसार जब किसी लोन की किस्त लगातार तीन महीने तक न जमा हों तो वह खाता एनपीए खाता बन जाता है।

बता दे कि यूपी में बजाज हिंदुस्थान की 14 चीनी मिले है। और कंपनी पर गन्ना किसानों का भी बहुत पैसा बकाया है। बतातो चले कि बजाज हिन्दुस्थान शुगर कम्पनी चीनी उत्पादन के मामले में एशिया की सबसे बड़ी कंपनी है। और कम्पनी की शुरुआत Jamanalal Bajaj ने सन् 1931 में की थी।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV