UP : अपनी ही सरकार जमकर बरसे पर वरुण गांधी, बोले – ‘भीख मांगने से कभी नहीं मिलता सम्मान और अधिकार’

बीजेपी सांसद वरुण गांधी लगातार अपनी ही सरकार पर हमलावर नजर आ रहे हैं फिर चाहे वह कृषि कानूनों को वापस लेने का मामला हो या फिर लखीमपुर में घटित हुई घटना सांसद वरुण गांधी लगातार अपने ट्वीट बम के जरिए बीजेपी पर हमलावर हैं ऐसे में दो दिवसीय दौरे पर पीलीभीत पहुंचे सांसद वरुण गांधी ने संविदा कर्मचारियों द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सरकार पर जमकर हमला बोला।

दरअसल शहर के यशवंतरी देवी मंदिर परिसर में अपनी तमाम मांगों को सांसद के समक्ष रखने के लिए जिले भर के तमाम विभागों में तैनात संविदा कर्मचारियों ने एक कार्यक्रम आयोजित किया था इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए सांसद वरुण गांधी रविवार को पीलीभीत पहुंचे कार्यक्रम में पहुंचे सांसद वरुण गांधी ने मंच को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी समस्याओं को सुनने के लिए आपके बीच बैठना जरूरी है इतना कह के सांसद वरुण गांधी मंच से नीचे उतर गए और संविदा कर्मचारियों के बीच जा बैठे.

संविदा कर्मचारियों के बीच समस्याएं सुनने के बाद सांसद वरुण गांधी ने मंच को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोगों के जीवन पर इतना दबाव है,कि आपकी समस्या सुनकर मेरी आंखों में भी आंसू आ गए. सांसद वरुण गांधी ने कहा कि एक तरीका अपनी बातों को मनमाने का यह है कि आप अपनी बातों को सरकार के समक्ष रखकर उनसे मांग करें दूसरा तरीका यह है कि आप अपने आप को संगठित करें और अपनी ताकत का प्रदर्शन करें जिससे आपको अपनी मांगों को लेकर सरकार के सामने हाथ ना फैलाना पड़े।

सवा साल दिल्ली की सीमा पर बैठे रहे देश के किसान

सांसद वरुण गांधी ने भरे मंच पर संबोधन के दौरान कहा कि सवा साल देशभर के किसान दिल्ली की सीमा पर धरने पर बैठे रहे वीरता से किसान राजधानी के तट पर सड़कों पर अपना आंदोलन करके से सरकार के दो दो हाथ करते रहे ऐसे में मैं ऐसा इकलौता सांसद था जिसने शुरू से किसानों का खुलेआम पक्ष किया। लोगों ने मुझसे कहा कि आपका दल क्या सोचेगा मैंने कहा कि दल को तो हम समझा लेंगे लेकिन हमको यह सोचना है कि देश क्या सोचेगा। आप लोगों के रूप में आज मेरे सामने कोई अगला पिछला हिंदू मुसलमान नहीं बल्कि हिंदुस्तान बैठा है। मैं यहां पर आपकी बात को सिर्फ संसद में उठाने के लिए नहीं आया हूं ना ही मैं आपकी बात को ज्ञापन और छुट्टी के माध्यम से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री तक पहुंचाने आया हूं बल्कि मैं आपके सामने यह कहने आया हूं कि आपके इस आंदोलन में आपके कष्ट में मैं अपने आप को पूरी तरीके से दांव पर लगाने को तैयार हूं।

मैं साफ दिल की राजनीति करता हूं – वरुण

सांसद वरुण गांधी ने संबोधन के दौरान कहा मैं ईमानदार सांसद हूं और साफ दिल की राजनीति करता हूं मैं उन लोगों की तरह नहीं हूं जिनके पैरों में पहनने को चप्पल नहीं थी जो अब शहर में कॉलोनी काट रहे हैं बड़ी-बड़ी कोठियां बना रहे हैं, मैं आपके साथ दिल से हूं और जो भी करता हूं दिल से करता हूं। मैं 13 साल से सांसद हूं मैंने आज तक एक रुपए का वेतन भी बतौर सांसद देश से नहीं लिया। ना मैं सरकारी गाड़ी से चलता हूं और ना ही मैं सरकारी मकान में रहता हूं। मैं राजनीति को सिर्फ एक क्रांति समझ कर राजनीति में आया हूं। क्रांति का मतलब यह नहीं है कि आप जैसे संविदा कर्मचारी परेशान हो, आपकी तरह अगर व्यापारी किसानों का शोषण होगा मजदूरों का शोषण होगा पढ़े-लिखे नौजवानों का शोषण होगा तो हमारा देश कभी खड़ा नहीं हो पाएगा।

भीख मांगने से कभी सम्मान और अधिकार नहीं मिलता

सांसद वरुण गांधी ने महात्मा गांधी भगत सिंह आजाद समेत तमाम लोगों का उदाहरण देते हुए कहा कि आदर्शों से हमें एक चीज़ सीखने को मिलती है कि भीख मांगने से हमें कभी सम्मान नहीं मिलता हमें सम्मान के लिए लड़ाई लड़नी पड़ेगी। क्योंकि बिना ताकत का प्रदर्शन किए कोई भी आपका सामने झुकने वाला नहीं हूं आप जहां भी जाएंगे मैं आपके साथ हूं। बैंक बंद होने का मामला जब मेरे संज्ञान में आया तो मैंने उनके समर्थन में भी आवाज उठाई और अपने ट्विटर पर लिखा क्योंकि 1200000 लोग बेरोजगार होंगे वह क्या घास छीलेंगे लेंगे बीएसएनल एयर इंडिया देश का आखिर देश के तरफ जा रहा है। आम आदमी का बच्चा आखिर कहां नौकरी करेगा। आज देश में तमाम पेपर लीक हो रहे हैं मैंने आवाज उठाई आकर इसका जवाब कौन देगा आखिर बड़े शिक्षा माफियाओं पर कार्रवाई कब होगी।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 6 =

Back to top button
Live TV