जब अचानक जिला जेल पहुंच गए सपा सांसद, जाने Rambhual Nishad को लेकर क्यों मचा बवाल

सोनू सिंह के ऊपर पीड़ित की जबरन दीवार गिराने और घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में एमपी एमएलए कोर्ट ने डेढ़ वर्ष की सजा सुनाई है।

सपा सांसद राम भुआल निषाद मंगलवार को लाव लश्कर के साथ जिला जेल क्या पहुंचे जिले का राजनीतिक पारा गर्म हो गया। यहां उन्होंने मारपीट के मामले में सजायाफ्ता पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू से मुलाकात की। हालांकि सपाई इसे औपचारिक भेंट बता रहे हैं। मगर जेल में बंद एक नेता से दूसरा नेता औपचारिक भेंट करने क्यों गया था। आखिर इसके पीछे का कारण क्या है आप भी कुछ यही सोच रहे हैं न ?

दरअसल, 18 जून को करीब आधा दर्जन गाड़ियों और 25-30 लोगों के साथ सपा सांसद रामभुआल निषाद जिला जेल पहुंचे तो सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई। हर तरफ एक ही सवाल उठ रहा था आखिर सपा सांसद जिला जेल क्यों गए हैं। मगर कुछ ही देर बाद जब इस राज से पर्दा हटा तो पता चला कि रामभुआल तो वहां पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह से मुलाकात कर उनका आभार व्यक्त करने गए थें। हालाँकि, जेल में मुलाकात के बाद वे बाहर निकले तो मगर मीडिया से बातचीत के लिए दूरी बनाए रखी और कुछ भी बोलने से साफ़ इनकार कर दिया।

हाल ही में 25 मई को सुल्तानपुर का लोकसभा चुनाव संपन्न हुआ था। इस चुनाव से कुछ दिन पहले ही पूर्व विधायक सोनू सिंह ने भाजपा का दामन छोड़  समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया था। जिसके बाद उन्होंने सपा प्रत्याशी रामभुआल निषाद का इस चुनाव में ख़ास मदद भी किया था। इस चुनाव में रामभुआल को जीत हासिल हुई। काउंटिंग के दिन यानी चार जून को सोनू सिंह अमहट स्थित नवीन मंडी स्थल पहुंचे थे और राम भुआल को जीत की बधाई दी थी।

गौरतलब हो कि सोनू सिंह के ऊपर पीड़ित की जबरन दीवार गिराने और घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में एमपी एमएलए कोर्ट ने डेढ़ वर्ष की सजा सुनाई है। आपने इसी सजा को वो जिला कारागार में काट रहे हैं। 

Related Articles

Back to top button