अखिलेश ने किसान और सिख समाज के प्रतिनिधिमण्डल से की मुलाकात, भाजपा पर जमकर बोला हमला, जानें क्या कहा?

इस दौरान उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा कुप्रचार करती रहती है और समाजवादी पार्टी के बारे में बेबुनियाद ऊल-जुलूल बातें फैलाई जा रही है. अखिलेश ने एक बार फिर 2022 के यूपी विधानसभा आम चुनाव में धांधली के आरोप लगाए और कहा कि चुनाव के दौरान हजारों समाजवादी पार्टी समर्थकों के वोट नहीं पड़ने पाए और प्रशासन का खुला दुरूपयोग किया गया.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को भाजपा पर जमकर हमला बोला. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को षड्यंत्रकारी और भ्रष्टाचारी बता डाला और कहा कि भाजपा सरकार में अंधेरगर्दी का बोलबाला है. जनता भाजपा से त्रस्त है. उन्होंने कहा कि समाज का हर तबका भाजपा सरकार से असंतुष्ट और दुःखी है.

सपा प्रमुख ने भाजपा पर समाज में नफरत फैलाने का आरोप लगाया और आगे कहा कि भाजपा सरकार के कारनामों के कारण जनता ने भी तय कर लिया है कि वह 2024 में भाजपा सरकार की विदाई अवश्य करेगी. दरअसल, सपा प्रमुख ने रविवार को सपा प्रदेश मुख्यालय लखनऊ में किसान एवं सिख समाज के प्रतिनिधिमण्डल से भेंट की.

इस दौरान उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा कुप्रचार करती रहती है और समाजवादी पार्टी के बारे में बेबुनियाद ऊल-जुलूल बातें फैलाई जा रही है. अखिलेश ने एक बार फिर 2022 के यूपी विधानसभा आम चुनाव में धांधली के आरोप लगाए और कहा कि चुनाव के दौरान हजारों समाजवादी पार्टी समर्थकों के वोट नहीं पड़ने पाए और प्रशासन का खुला दुरूपयोग किया गया.

अखिलेश ने इस दौरान अपनी सरकार के कामों को भी गिनाया साथ ही भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादी सरकार में यूपी में भारी निवेश आया था और कई विकास के काम भी हुए थे लेकिन भाजपा सरकार ने समाजवादी सरकार के तमाम विकास कार्यों को या तो बंद कर दिया या रोक लगा दी.

उन्होंने भाजपा पर जमकर हल्ला बोलते हुए कहा कि भाजपा संविधान का ईमानदारी से पालन नहीं कर रही है. संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. गांवों में कोई विकास कार्य नहीं हुआ है. विद्युत आपूर्ति में कटौती की जा रही है. भाजपा को अंधेरा पसंद है. इसलिए प्रदेश को विनाश की ओर ले जा रही है.

सपा प्रमुख ने अपने संबोधन के दौरान यह भी कहा कि भाजपा सरकार में किसानों की उपेक्षा हो रही है. महंगाई के कारण लोगों के सामने भारी आर्थिक संकट है. भाजपा की आर्थिक नीतियों के चलते ग्रामीण अर्थव्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई है. गरीब की कमर टूट गई है. महिलाएं अपमानित हो रही है. नौजवान बेकारी से परेशान है और उनका भविष्य अंधकार में है. उन्होंने बीजेपी पर निर्दोषों को फर्जी मामलों में फंसाने का भी आरोप लगाया.

Related Articles

Back to top button
Live TV