कांग्रेस स्थापना दिवस के मौक़े पर गिरा कांग्रेस पार्टी का झंडा, फहरा रही थीं सोनिया गांधी…

रिपोर्ट- रवि सर्राफ

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी आज 137वां स्थापना दिवस मना रही थी। इस मौक़े पर कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस दफ़्तर 24 अक़बर रोड पहुँची, कार्यक्रम के अनुसार वो कांग्रेस पार्टी का ध्वजारोहण कर रही थी इसी क्रम में पार्टी का झंडा नीचे गिरा। हालाँकि थोडी देर मे सोनिया गांधी ने फिर से ध्वजारोहण किया। सोनिया गांधी ने ध्वजारोहण कर केंद्र पर ये आरोप लगाया कि देश का आम नागरिक असुरक्षित और भयभीत महसूस कर रहा है।

लोकतंत्र और संविधान को दरकिनार कर तानाशाही चलाई जा रही है। कांग्रेस स्थापना दिवस पर सोनिया गांधी का देश और कार्यकर्ताओं के नाम सन्देश में कहा कि हमारे प्यारे देशवासियों और कांग्रेस के जांबाज साथियों। आज हम सब 136 साल पुरानी अपनी कांग्रेस का स्थापना दिवस पूरे देश में बड़े व्यापक रूप से मना रहे हैं। कांग्रेस केवल एक राजनीतिक पार्टी का ही नाम नहीं है, बल्कि एक आंदोलन का नाम कांग्रेस पार्टी है। कांग्रेस की स्थापना किन परिस्थितियों में हुई, यह मुझे बताने की जरूरत नहीं है।

आजादी के आंदोलन में कांग्रेस और उसके तमाम नेताओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया, संघर्ष किया, जेलों में कठोर यातनाएं झेली और बहुत से देश भक्तों ने अपने प्राणों तक का बलिदान दिया, तब जाकर कहीं हमें आजादी मिली। आजादी के बाद हमें जो भारत मिला उसकी कल्पना करना कठिन है, लेकिन हमारे महान नेताओं ने बड़ी सूझबूझ और दृढ़ निश्चय के साथ भारत के नव-निर्माण की एक मजबूत बुनियाद रखी, जिस पर चलकर हमने एक सशक्त भारत खड़ा किया। एक ऐसा भारत जिसमें सभी देशवासियों के अधिकारों और हितों का ध्यान रखा गया। जिन लोगों ने आजादी के आंदोलन में भागीदारी नहीं दिखाई, वह इसकी कीमत कभी नहीं समझ सकते।

आज भारत की उस मजबूत बुनियाद को कमजोर करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज इतिहास को झुठलाया जा रहा है। हमारी विरासत गंगा-जमुना संस्कृति को मिटाने की नापाक कोशिश हो रही है। देश का आम नागरिक असुरक्षित और भयभीत महसूस कर रहा है। लोकतंत्र और संविधान को दरकिनार कर तानाशाही चलाई जा रही है। ऐसे वक्त में कांग्रेस चुप नहीं रह सकती। देश की विरासत को किसी को भी नष्ट करने की इजाजत नहीं देगी। आम जनमानस के लिए, लोकतंत्र की रक्षा के लिए, देश विरोधी, समाज विरोधी साजिशों के खिलाफ हर संभव संघर्ष करेगी, हर कुर्बानी देगी।

आज के इस ऐतिहासिक अवसर पर एक-एक कांग्रेस जन को यही संकल्प लेना है और कांग्रेस संगठन को मजबूत बनाना है। इन्हीं शब्दों के साथ आप सभी को कांग्रेस के स्थापना दिवस पर और आने वाले नववर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। वहीं इस मौके पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कांग्रेस स्थापना दिवस की शुभकामनाएं देते हुये कहा कि कांग्रेस को लोकतंत्र की स्थापना करने वाली पार्टी बताया है और इस धरोहर पर उन्हें गर्व है। कांग्रेस स्थापना दिवस पर दिल्ली स्थित पार्टी के मुख्यालय में कार्यक्रम आयोजिक किया गया। इस मौके पर सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल, सहित कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता मौजूद हैं।

गौरतलब है कि कांग्रेस की स्थापना साल 1885 में 28 दिसंबर को की गई थी। दरअसल, मुंबई के गोकपलदास संस्कृत कॉलेज मैदान में इसकी नींव रखी गई थी। जहां देश के तमाम प्रांतों के राजनीति और सामाजिक विचारधारा के लोग एक साथ जुटे थे। इसके बाद यह एक राजनीतिक संगठन के रूप में बदली और कांग्रेस का गठन किया गया।कांग्रेस का पहला अध्यक्ष डब्ल्यू.सी.बनर्जी को बनाया गया।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV