प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मामले में पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली धमकी…

प्रधानमंत्री मोदी की पंजाब में 5 जनवरी को ही सुरक्षा में चूक के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित जांच कमेटी की चेयर पर्सन पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को धमकी मिली। एक वकील को आई कॉल के माध्यम से जस्टिस इंदु मल्होत्रा को धमकी दी गई है। वकील को आई धमिकभरी कॉल में कहा गया कि जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मामले की जांच नहीं करने देंगे।

धमकी में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और सिखों में से एक को चुनना होगा। खालिस्तानी आतंकवादियों ने धमकी दी और जस्टिस संगठन ने धमकी देते हुए कहा जस्टिस इंदु मल्होत्रा ने खुद को खतरनाक स्थिति में डाल लिया है। हम सुप्रीम कोर्ट के वकीलों की भी लिस्ट बना रहे हैं जिन्होंने ऐसी जांच की मांग की थी।

इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट के कई वकीलों को मामले में धमकी भरे कॉल आए थे। वकीलों से प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा की चूक के मामले से दूर रहने को कहा गया था। पहले आई धमकी भरी कॉल के मामले में वकीलों की तरफ से दिल्ली पुलिस में शिकायत भी की गई थी।

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट की सेवानिवृत्त जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा की अध्यक्षता में एक जांच कमेटी बनाई थी। सुप्रीम कोर्ट की कमेटी में सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा, NIA के DG या उनकी तरफ से नामित अधिकारी जो IG रैंक से नीचे न हो, चंडीगढ़ के DGP, पंजाब के ADGP (सिक्युरिटी) और पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल शामिल है। कमेटी देखेगी कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में किस तरह की चूक हुई? इसके लिए कौन जिम्मेदार है? भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए क्या कदम उठाए जाने की जरूरत है? सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी का कोई कार्यकाल तय नहीं किया है। सिर्फ यही कहा है कि कमेटी जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट देने की कोशिश करे।

Related Articles

Back to top button
Live TV