G20 Summit: आशाभरी नजरों से भारत की ओर देख रही दुनिया, देश के पास सनातन सोच को उजागर करने का अवसर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज यहां अपने सरकारी आवास पर ‘रन फाॅर जी-20’ वाॅकाथन व मिनी मैराथन के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह मेरा है, यह तेरा है, यह बहुत छोटी सोच होती है। भारत की सनातन सोच पूरी दुनिया को एक परिवार के रूप में मानने की रही है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश अपनी आजादी का अमृत महोत्सव उत्साह व उमंग के साथ आयोजित कर रहा है। इस अवसर पर हमारे सामने अनेक उपलब्धियां भी प्राप्त होती हुई दिखाई दे रही है। आज दुनिया यह मान रही है कि वैश्विक संकट के इस दौर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत, दुनिया को मौजूदा संकट से उबार सकता है तथा भारत की उस पवित्र भावना ‘अयं निजः परो वेति गणना लघु चेतसाम्, उदारचरितानां तु वसुधैव कुटुम्बकम्’ को आम जनमानस के कल्याण के लिए लगा सकता है, जो कभी भारतीय मनीषा ने सोचा था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज यहां अपने सरकारी आवास पर ‘रन फाॅर जी-20’ वाॅकाथन व मिनी मैराथन के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह मेरा है, यह तेरा है, यह बहुत छोटी सोच होती है। भारत की सनातन सोच पूरी दुनिया को एक परिवार के रूप में मानने की रही है। जी-20 की अध्यक्षता करने के साथ भारत के पास उस सनातन सोच को उजागर करने का अवसर आया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जी-20 दुनिया के वे 20 बड़े देश हैं, जहां दुनिया की 60 प्रतिशत से अधिक आबादी निवास कर रही है। इन देशों का दुनिया के 75 प्रतिशत व्यापार तथा 85 प्रतिशत जी0डी0पी0 पर अधिकार है। दुनिया के 90 प्रतिशत इनोवेशन, रिसर्च तथा पेटेन्ट पर जी-20 के देशों का अधिकार है। दुनिया के इन 20 बड़े देशों का नेतृत्व आज भारत को प्राप्त हुआ है। यह हमारे लिए गौरव की बात है। दुनिया उत्साह, उमंग तथा आशाभरी निगाह से भारत की ओर देख रही है। ‘वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर’ की भावना को ध्यान मेे रखकर, भारतीय मनीषा की ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ को सोच को चरितार्थ करने का अवसर भारत के पास आया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज मौनी अमावस्या का पावन पर्व भी है। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के जिन 04 जनपदों लखनऊ, वाराणसी, आगरा तथा गौतमबुद्ध नगर में जी-20 की 11 बैठकों का आयोजन होना है, उनमें आम जनमानस की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए रन फाॅर जी-20 वाॅकाथन का आयोजन प्रदेश सरकार की ओर से इस पावन तिथि से प्रारम्भ हो रहा है। दुनिया के 20 बड़े देशों के प्रतिनिधि तथा 09 मित्र देशों के प्रतिनिधि इस आयोजन में सहभागी बनेंगे। उन सबके साथ हम सबको जुड़ने का अवसर प्राप्त हो रहा है। यह हम सबके लिए आनन्द का विषय होगा कि आजादी के इन 75 वर्षों में देश ने विकास की जिन नई ऊंचाईयों को छुआ है, उसे आतिथ्य सेवा के भाव के साथ सबके सामने प्रस्तुत करें। सदी की सबसे बड़ी महामारी के दौरान भारत ने अपनी सामथ्र्य का परिचय दुनिया को कराया है। भारत का कोविड प्रबन्धन दुनिया में सबसे बेहतरीन माना गया। डब्ल्यू0एच0ओ0 तथा अन्य अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने इसे स्वीकार किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी लखनऊ में 13 से 15 फरवरी के बीच होने वाले आयोजन में उत्तर प्रदेश की तकनीकी दृष्टि से हासिल की गयी क्षमताओं को प्रदर्शित करने का एक अवसर हमारे सामने है। हमें यहां आने वाले अतिथियों के स्वागत का अवसर प्राप्त होगा। इसके लिए ‘अतिथि देवो भवः’ का उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करने की आवश्यकता है। दुनिया में एक सन्देश देने की आवश्यकता है कि जब दुनिया संकट में होगी या मानवता के सामने कोई संकट आयेगा, तो भारत उसके समाधान के लिए नेतृत्व देगा तथा दुनिया को संकट से उबारकर नई राह दिखाने का कार्य करेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हम सभी को अपनी सामथ्र्य दिखाने का अवसर प्राप्त हो रहा है। इस दृष्टि से आगामी फरवरी माह अत्यन्त महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री के विजन के अनुरूप उत्तर प्रदेश 10 से 12 फरवरी के बीच यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारी कर रहा है। देश व दुनिया के बड़े निवेशक तथा उद्यमी यहां आकर उत्तर प्रदेश की सामथ्र्य व समृृद्धि के साथ अपने को जोड़ने का कार्य करेंगे। यह एक बड़ा आयोजन होगा। 10 हजार से अधिक उद्यमी और निवेशक प्रदेश में आने वाले हैं। हमें उनके स्वागत की भी तैयारी करनी है। 13 से 15 फरवरी के बीच जी-20 के देशों के प्रतिनिधि तथा 09 मित्र देशों के प्रतिनिधि एवं अलग-अलग सेक्टर्स से जुड़े हुए लोग आएंगे। उनके स्वागत का अवसर लखनऊ में प्राप्त होगा। जनपद आगरा, गौतमबुद्धनगर तथा वाराणसी में भी अलग-अलग बैठके होनी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश 24 जनवरी को अपने स्थापना दिवस का कार्यक्रम भव्यता के साथ आयोजित करेगा। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ ही, सभी जनपदों को इन कार्यक्रमों के साथ जुड़ना चाहिए। अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करते हुए जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कुछ नया करने वाले लोगों को आगे बढ़ने के लिए मंच देना चाहिए। उत्तर प्रदेश 25 करोड़ की आबादी का राज्य है। इतनी बड़ी आबादी की सुरक्षा व समृद्धि तथा उज्ज्वल भविष्य की एक ठोस कार्ययोजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रदेश के स्थापना दिवस के कार्यक्रम से लेकर 15 फरवरी तक कार्यक्रमों की आयोजनों की श्रृंखला दिखायी देनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहां रन फाॅर जी-20 वाॅकाथन व मिनी मैराथन के इस आयोजन में बड़ी संख्या में आप सभी प्रतिभागी आये हैं। हमारे अनेक वरिष्ठ अधिकारीगण भी पूरी तैयारी के साथ आये हैं। कल सांय वर्षा हो रही थी। मौसम विपरीत था। उन्हें आज के कार्यक्रम के आयोजन को लेकर चिन्ता थी। लेकिन जहां चाह, वहां राह। आज मौसम सुहावना है और ठण्ड भी गायब हो गई है। प्रकृति इस आयोजन के साथ आप सभी को जोड़ने के लिए उत्सुक दिखायी दे रही है। परमात्मा की असीम कृपा है तथा प्रकृति हमारे अनुकूल है। आज आप सबकी उपस्थिति और उत्साह यह प्रदर्शित कर रहा है कि इस आयोजन को भव्यता के साथ आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

मुख्यमंत्री ने जी-20 के आयोजन के लिए उत्तर प्रदेश के 04 शहरों का चयन करने तथा प्रदेशवासियों को उत्कृष्ट आतिथ्य सेवा का अवसर देने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि प्रदेश के जिन 04 शहरों में जी-20 के आयोजन होने हैं, वहां अधिकारियों की टीम, जनप्रतिनिधि तथा समाज जीवन से जुड़े अलग-अलग पक्ष बेहतरीन तरीके से कार्यों को आगे बढ़ायेंगे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्मार्ट सिटी लखनऊ प्रोजेक्ट के अन्तर्गत 519 लाख रुपये की अनुमानित लागत से के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम के जी-20 बहुउद्देशीय क्रीड़ा हाॅल का बटन दबाकर शिलान्यास किया। उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जी-20 का ‘लोगो’ युक्त झण्डा सौंपा। मुख्यमंत्री ने तिरंगे रंग के गुब्बारे आसमान में छोड़े। उन्होंने झण्डी दिखाकर रन फाॅर जी-20 वाॅकाथन व मिनी मैराथन को रवाना किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की ओर तेजी से अग्रसर है। यह देश के लिए गौरव की बात है कि भारत जी-20 की अध्यक्षता कर रहा है। जी-20 के सम्मेलनों में उत्तर प्रदेश के 04 शहर भी मेजबानी करेंगे। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश सरकार गम्भीरता के साथ अपनी भूमिका का निर्वहन करेगी।

इस अवसर पर विधायकगण डाॅ0 नीरज बोरा, योगेश शुक्ला, जय देवी, अमरेश कुमार, विधान परिषद सदस्य मुकेश शर्मा, श्रीराम चन्द्र प्रधान, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात, लखनऊ की मण्डलायुक्त रोशन जैकब, लखनऊ के जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार, सूचना निदेशक शिशिर, अपर सूचना निदेशक अंशुमान राम त्रिपाठी सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा खिलाड़ी एवं छात्र उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Live TV