Kisan Andolan: संयुक्त किसान मोर्चा की कोर कमेटी की बैठक, क्या खत्म होगा किसान आंदोलन?

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के कल 26 नवंबर को एक साल पूरे हो गए हैं। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया है और इसकी कानूनी प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। लेकिन किसान अभी भी आंदोलन खत्म करने के मूड में नहीं हैं क्योंकि आंदोलनकारी किसानों ने MSP कानून की मांग तेज कर दी है। इसी कड़ी में संयुक्त किसान मोर्चा की सिंघु बॉर्डर पर बैठक चल रही है। जिसमें MSP कानून की मांग पर अंतिम रोडमैप तैयार किया जाएगा।

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के कल 26 नवंबर को एक साल पूरे हो गए हैं। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया है और इसकी कानूनी प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। लेकिन किसान अभी भी आंदोलन खत्म करने के मूड में नहीं हैं क्योंकि आंदोलनकारी किसानों ने MSP कानून की मांग तेज कर दी है। इसी कड़ी में संयुक्त किसान मोर्चा की सिंघु बॉर्डर पर बैठक चल रही है। जिसमें MSP कानून की मांग पर अंतिम रोडमैप तैयार किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, संयुक्त किसान मोर्चा की आज सिंघु बॉर्डर पर बैठक बुलाई है। संयुक्त किसान मोर्चा की कोर कमेटी की 12 बजे बैठक होगी, जिसमें किसान नेताओं में MSP कानून की मांग पर अंतिम रोडमैप पर चर्चा होगी। बैठक में संसद मार्च के फैसले पर पुनर्विचार करेंगे। संसद मार्च को लेकर अंतिम रणनीति बन सकती है। लेकिन चर्चा यह भी है कि बैठक में किसान आंदोलन को खत्म करने पर भी चर्चा की जा सकती है।

सरकार को MSP पर भी गारंटी देनी पड़ेगी- राकेश टिकैत

किसान आंदोलन के मुख्य चेहरा रहे किसान नेता राकेश टिकैत ने आंदोलन के एक साल पूरे होने पर साफ-साफ कह दिया है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो जाती आंदोलन जारी रहेगा। राकेश टिकैत ने कहा कि, जो किसान शहीद हो गए हैं उन्हें याद कर रहे हैं। तीन काले कानून और कोरोना एक साथ आए थे वो बीमारी थी , वो खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी मंजिल बाकी है। सरकार को एमएसपी (MSP) पर भी गारंटी देनी पड़ेगी।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 1 =

Back to top button
Live TV