शिवपाल-अखिलेश की मुलाकात से दिखे सुलह के संकेत, सपा में नहीं होगा प्रसपा का विलय, हो सकता है गठबंधन!

यूपी विधानसभा के आगामी चुनावों के मद्देनजर खबर आई है कि अखिलेश यादव ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव से मुलाकात की है। दोनों नेताओं की यह मुलाकात इस लिहाज से भी अहम है कि दोनों परिवारों के बीच तल्खियां कुछ कम हो सकती हैं। अखिलेश और शिवपाल यादव के बीच साल 2016 में तल्खियां खुलकर चर्चा में तब आ गई थी जब अखिलेश ने शिवपाल को अपनी कैबिनेट से बाहर निकाल दिया था। इसके बाद शिवपाल यादव ने अपनी नई पार्टी बना ली थी।

गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव शिवपाल के घर पहुंचे और दोनों के बीच बंद कमरे में लगभग 45 मिनट तक मुलाकात हुई। इस मुलाकात से दोनों के बीच रिश्तों में कितना सुधार होगा इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दोनों के बीच इस दौरान कोई मध्यस्थ नहीं था। बताया जा रहा है कि इस दौरान बातचीत करके चाचा-भतीजे ने सभी गिले-शिकवे निपटा लिए। दोनों परिवारों के बीच गर्मजोशी के माहौल था। खुद शिवपाल यादव ने आगे बढ़कर अखिलेश का गर्मजोशी से स्वागत किया।

विश्वसनीय सूत्रों कि माने तो इस मुलाकात के दौरान दोनों परिवार के बीच कई बार भावुक माहौल भी देखने को मिला और निश्चित तौर पर दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात चाचा-भतीजे के बीच सुलह के संकेत हैं। सूत्रों के हवाले से खबर यह भी है कि चाचा शिवपाल भतीजे अखिलेश को काफी देर गले लगाए रहे। हालांकि अब तक मिली जानकारी और सूत्रों से मिली सूचना के मुताबिक, प्रसपा का अस्तित्व बना रहेगा। शिवपाल अपनी पार्टी का विलय नहीं कर रहे हैं वरन दोनों दलों के बीच प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की लिहाज से गठबंधन होगा।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 5 =

Back to top button
Live TV