अध्ययन में हुआ खुलासा- डेल्टा स्ट्रेन की तुलना में ओमीक्रॉन वैरिएंट से अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम कम!

इंपीरियल कॉलेज लंदन, यूके के शोधकर्ताओं ने अपने शोध के दौरान यह पाया कि ओमीक्रॉन संक्रमण दर को रोकने में टीकाकरण बहुत कारगर है और यही कारण है कि ओमीक्रॉन वैरिएंट से प्राकृतिक या सामुदायिक संक्रमण द्वारा होने वाले जोखिमों के क्रम में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना कम है।

ब्रिटेन में किए गए एक अध्ययन के शुरुआती परिणामों के अनुसार, डेल्टा स्ट्रेन की तुलना में कोरोनवायरस के ओमीक्रॉन वैरिएंट से प्रभावित लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की संभावना कम होती है। ब्रिटेन के इंपीरियल कॉलेज लंदन कि एक शोध रिपोर्ट से पता चलता है कि कोविड-19 के डेल्टा वैरिएंट की तुलना में ओमीक्रॉन के मामलों में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 15-20 प्रतिशत कम होती है, और एक रात या उससे अधिक समय तक अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 40-45 प्रतिशत कम होती है।

इंपीरियल कॉलेज लंदन, यूके के शोधकर्ताओं ने अपने शोध के दौरान यह पाया कि ओमीक्रॉन संक्रमण दर को रोकने में टीकाकरण बहुत कारगर है और यही कारण है कि ओमीक्रॉन वैरिएंट से प्राकृतिक या सामुदायिक संक्रमण द्वारा होने वाले जोखिमों के क्रम में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना कम है। अध्ययन में पाया गया है कि वैक्सीन की कम से कम लिए हुए लोगों में ओमीक्रॉन की गंभीरता दर डेल्टा वेरिएंट की तुलना में अपेक्षाकृत कम है।

इंपीरियल कॉलेज लंदन, यूके की अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक जनसंख्या के स्तर पर, अधिक संक्रमण दर होने पर अभी भी जनसंख्या के बड़े हिस्से को अस्पताल में भर्ती होने की संभावना बनी रहेगी। कॉलेज के प्रोफेसर अज़रा गनी ने कहा, कि ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमण का जोखिम बहुत अधिक है हालांकि अध्ययन से पता चलता है कि इससे संक्रमित होने पर अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम कम है।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV