सीकरी मंदिर में दर्शन को गए परिवार को जहरखुरानी गिरोह ने बनाया निशाना, परिवार के 9 सदस्यो को बेहोश कर लूट ले गए माल, डेढ़ साल की बच्ची की हालत गम्भीर।

ग़ाज़ियाबाद : मोदीनगर के सीकरी स्थित महामाया मंदिर में दर्शन करने पहुँचे परिवार के 9 सदस्यों को जहरखुरानी गिरोह ने निशाना बना कीमती सामान लूट लिया हैं। घटना शुक्रवार देर रात की बताई गई है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली के भजनपुरा के रहने वाले धर्मवीर सिंह अपने पूरे परिवार के साथ मंदिर दर्शन करने पहुंचे थे। दर्शन करने के बाद उनकी गाड़ी पार्किंग में खड़ी थी। पार्किंग में पहुंचकर ही उन लोगों ने प्रसाद और खाना खाना शुरू किया। परिवार के सदस्य के मुताबिक उसी समय है वहां पर एक चिप्स और फ्रूटी बेचने वाला पहुंचा था। जिसे देख बच्चे फ्रूटी लेने की जिद करने लगे। जिसके बाद उन्हें चिप्स और फ्रूटी दिला दी गयी। परिवार के सभी सदस्यों ने फ्रूटी लेजर पीने लगी। जहरखुरानी गैंग ने टेट्रा पैक में उन्हें नशीला पदार्थ देकर बेहोश कर दिया और उनका कीमती सामान लूट लिया।

परिवार के सभी सदस्य मिले थे बेहोशी की हालत में, डेढ़ साल की बच्ची की हालत गम्भीर।
परिवार के मुखिया धर्मवीर सिंह (55) उनकी पत्नी मुनेश, के अलावा भाई-भाभी, बेटा-बहू के साथ डेढ़ साल की बच्ची को नशीला पदार्थ दिया गया हैं। सभी पार्किंग में ही बेहोशी की हालत में पड़े होने के बाद सुबह पार्किंग वाले ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। मौके पर पहुँची पुलिस सभी को एम्बुलेंस से गाजियाबाद के जिला संयुक्त अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज चल रहा है। परिवार में डेढ़ वर्ष की बच्ची पूर्वी की हालत गंभीर बताई गई है। उसे मेरठ स्थित मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

घटना ने खोली प्रशासन और पुलिस के सुरक्षा दावों की पोल।
कोरोना के कारण 2 सालों से मंदिर में मेले का आयोजन नहीं किया गया था। इस साल मेले में लाखों की संख्या में लोग पहुँच रहे हैं प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता दावे किए थे लेकिन जहर खुरानी गैंग के द्वारा अंजाम दी गई इस घटना के बाद उन सभी दावों की पोल खुल गई है।एसपी ग्रामीण डॉ इरज राजा ने बताया कि मेले में इस प्रकार की घटना पहली बार हुई है, जहरखुरानी गिरोह ने बेहोश कर सभी के मोबाइल फोन्स चुराए हैं। मुकदमा दर्ज कर घटनाक्रम से संबंधित जांच शुरू कर दी गयी है। साथ ही मन्दिर और मेला परिसर में पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिये लोगो को जागरूक किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button