रजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पास हुए माईन विस्फोट में सेना के दो जवान शहीद

नौशेरा के कलाल इलाके में शाम करीब साढ़े चार बजे सेना के दोनों जवान नियंत्रण रेखा के समीप बनी हुई एक अग्रिम चौकी के पास गश्त पर गए हुए थे इसी दौरान माइन विस्फोट हुआ। एलओसी पर हुए इस अप्रत्याशित विस्फोट में एक अधिकारी और एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें सेना के हेलीकॉप्टर से उधमपुर के कमांड अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बच सकी।

सेना के अधिकारियों ने जानकारी दी कि पुंछ के जंगल क्षेत्र में चली लंबी मुठभेड़ के बीच, राजौरी जिले से सटे नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास एक माइन के विस्फोट में सेना के एक लेफ्टिनेंट पद के अधिकारी और एक सिपाही जवान शहीद हो गये। दोनों शहीद जवानों की पहचान लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार और सिपाही मंजीत सिंह के रूप में हुई है।

सेना के व्हाइट नाइट कॉर्प्स कमान ने अपने एक ट्वीट में लिखा, ”व्हाइट नाइट कॉर्प्स और सभी अधिकारी बहादुर जवान लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार और सिपाही मंजीत सिंह को सलाम करते हैं, जिन्होंने 30 अक्टूबर 21 को नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास अपने कर्तव्य का पालन करते हुए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया।” कमान ने उनके परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की।

बताया जा रहा है कि नौशेरा के कलाल इलाके में शाम करीब साढ़े चार बजे सेना के दोनों जवान नियंत्रण रेखा के समीप बनी हुई एक अग्रिम चौकी के पास गश्त पर गए हुए थे इसी दौरान माइन विस्फोट हुआ। एलओसी पर हुए इस अप्रत्याशित विस्फोट में एक अधिकारी और एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें सेना के हेलीकॉप्टर से उधमपुर के कमांड अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बच सकी। बता दें कि केवल अक्टूबर महीने में दो और मौतों के साथ, सेना ने राजौरी और पुंछ के आस-पास के जिलों में तीन अधिकारियों सहित कुल 11 सैनिकों को खो दिया है।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 + 17 =

Back to top button
Live TV