यूपी : सियासी जमीन साधने के लिए कल बस्ती आएंगे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, कार्यकर्ताओं को देंगे जीत का मन्त्र

यूपी मे कांग्रेस की सियासी जमीन जमाने के लिए 7 दिसम्बर को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्ती आएंगे। जहां वे किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इस सम्मेलन के बहाने यूपी में होने वाले 2022 में विधानसभा चुनाव का बिगुल भी फूंकेंगे। बस्ती के विधानसभा रुधौली के बेडवा मंदिर के पास उनका उडन खटोला उतरेगा और वे किसान सम्मेलन को संबोधित करेगे युक्त जानकारी काँग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव व युवा मंडल प्रभारी जयकरन वर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के मीडिया को दिया।

जयकरन वर्मा ने बताया छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री यह पर किसानों का एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करेगे और इस सम्मेलन के बहाने यूपी में होने वाले 2022 में विधानसभा चुनाव का बिगुल भी फूकेंगे। काँग्रेस नेताओं ने बताया की छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री यही से यूपी के मुख्यमंत्री को यह जवाब भी देंगे और बताएंगे कि भाजपा सिर्फ किसान के हितैषी नहीं हैं बल्कि कांग्रेश पार्टी भी किसान हितेषी है और भाजपा के लोग आज किसानों की चिंता करते दिख रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस पिछले पांच दशकों से किसानों की चिंता करती आ रही है किसानों के हित में जितना काम कांग्रेश ने किया है उतना अन्य किसी नहीं किया। कांग्रेस के प्रदेश महासचिव युवा मंडल प्रभारी जयकरण वर्मा ने कहा कि आज जहां भी भाजपा की सरकार है वहां किसान खुशहाल नहीं है। यही बताने के लिए हमारे छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल बस्ती आ रहे हैं और एक तरह से रुधौली से 2022 के चुनाव का बिगुल भी बजाएंगे

प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि प्रियंका गांधी की सभाओं मे व रैलियों में जिस तरीके से जनता की भीड़ उमड़ रही है उसे पता चलता है कि प्रदेश की जनता अब कांग्रेस की ओर देख रही है इस सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने गांव गांव जाकर लोगों से मिलकर संपर्क कर इस सम्मेलन में भाग लेने की जोरदार अपील की है मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि आज भारत में कांग्रेश किसानों की सबसे बड़ी हितेषी है और यदि जनता हमे मौका देगे तो देश के किसानों खासतौर यूपी के किसान के लिए हम बेहतर से बेहतर कार्य करेगे जिससे यूपी के किसान खुशहाल नजर आयेगे।

उन्होंने कहा कि आज जिस तरह किसानों को अपने उत्पादक का वाजिब कीमत नहीं मिल पा रहा है औनेपौने दामो मे किसान अपनी फसल बेचने पर मजबूर है आने वाले दिन मे यदि कांग्रेस पार्टी की सरकार बनती है तो किसानों को उनकी फसल का वाजिब मूल्य दिलाने का कार्य करेगी आज जिस तरह भाजपा सरकार में क्रय केंद्रों पर किसानों का धान और गेहूं बेचने के लिए कमीशन देना पड़ता है हर किसान का उत्पीड़न और शोषण हो रहा है जिसके चलते उसकी खेती बाडी से मोहभंग हो रहा है और यूपी सरकार कहती है कि उनके प्रदेश में किसान सबसे अधिक खुशहाल है वहीं एक सवाल में उन्होंने बताया कि पांचो विधानसभा से 41 संभावित उम्मीदवार अपनी उम्मीदवारी ठोक रहे हैं जिसमें 7 महिलाएं उम्मीदवार भी हैं।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen − 16 =

Back to top button
Live TV