UP: गन्ने का भुगतान निकालने बैंक पहुंचा किसान, खुद के मरने की खबर सुन उड़ गए होश

सरकारी दस्तावेजों में किसी जिन्दा इंसान को मुर्दा बताना कोई नया नहीं हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से सामने आया है, जहां एक किसान को मृत बता दिया गया।

सरकारी दस्तावेजों में किसी जिन्दा इंसान को मुर्दा बताना कोई नया नहीं हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से सामने आया है, जहां एक किसान को मृत बता दिया गया। मामले की जानकारी तब हुई जब किसान बैंक से गन्ने का भुगतान निकालने गया। बैंक पहुंचने पर पता चला कि वह तो सरकारी कागज में मृत हो चुका है जिस वजह से वह खाते से पैसा नहीं निकाल सकता।

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर का यह मामला तब तूल पकड़ा जब किसान अपने गन्ने का भुगतान लेने बैंक पहुंचा। पीड़ित किसान ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि मैं बैंक से पैसा निकालने गया तो बैंक के द्वारा बताया गया कि आप खाते से लेन देन नहीं कर सकते हैं। मामला सामने आने के बाद अधिकारियों ने कहा कि जांच के बाद दोषी पाए जाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

तीन सितंबर को पीड़ित ओम प्रकाश ने चिट्टी लिखकर बताया कि हम बैंक में गन्ने के रुपए निकालने गए थे, तब हमें पता चला कि हम मर चुके हैं। मामला सामने आने के बाद तिलहर की एसडीएम राशी कृष्णा ने बताया कि हमने राजस्व टीम गठित की और पता चला कि जून 2021 के तिलहर के BDO ने उनको मृत घोषित किया था। इसमें पंचायत सचिव की लापरवाही सामने आई थी, जिसके बाद उनको निलंबित कर दिया गया है।

Related Articles

Back to top button