कांग्रेस के काले कपड़ों में विरोध को लेकर चढ़ा सियासी पारा, अमित शाह ने कांग्रेस के प्रदर्शन को राम जन्मभूमि शिलान्यास से जोड़ा!

गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि राम जन्मभूमि के शिलान्यास वाले ऐतिहासिक दिन पर कांग्रेस का काले कपड़ो में विरोध प्रदर्शन तुष्टिकरण की राजनीति है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस नेताओं ने जानबूझकर काले कपड़े पहने, कांग्रेस ने हमेशा तुष्टिकरण की नीति को बढ़ाया है और इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए यह विरोध किया गया है.

शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में महंगाई और ED को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया. शुक्रवार को कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता काले कपड़ों में संसद पहुंचे और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और दूसरे कई कांग्रेसी दिग्गजों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया. हालांकि देर शाम सभी कांग्रेस नेताओं को रिहा कर दिया गया.

वहीं कांग्रेस के काले कपड़ों में विरोध प्रदर्शन को लेकर सियासी पारा बढ़ गया है. शुक्रवार देर शाम गृह मंत्री अमित शाह का बयान सामने आया, जिसमें उन्होंने कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन को राम मंदिर निर्माण से जोड़ दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हर रोज प्रदर्शन करती है, आज तो कोई ईडी की पूछताछ नहीं थी, फिर काले कपड़ों में विरोध का कार्यक्रम आज ही क्यों रखा गया?

गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि राम जन्मभूमि के शिलान्यास वाले ऐतिहासिक दिन पर कांग्रेस का काले कपड़ो में विरोध प्रदर्शन तुष्टिकरण की राजनीति है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस नेताओं ने जानबूझकर काले कपड़े पहने, कांग्रेस ने हमेशा तुष्टिकरण की नीति को बढ़ाया है और इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए यह विरोध किया गया है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने बयान में आगे कहा कि एक जिम्मेदार पार्टी होने के नाते कांग्रेस को कानून का सहयोग करना चाहिए था, लेकिन वो हर रोज प्रदर्शन कर रहे हैं.उन्होंने कहा, आज जो भी कांग्रेस ने किया है, उसमें उन्होंने अपनी तुष्टिकरण की नीति को गुप्त तरीके से आगे बढ़ाया है, कांग्रेस ने यह विरोध प्रदर्शन रामजन्मभूमि के शिलान्यास के विरोध में हुआ है.

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV