भाजपा-तृणमूल कांग्रेस के बीच फिर से खींचतान, इस बड़े अधिकारी के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने दर्ज की FIR

कोलकाता मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के विशेष कार्य अधिकारी (OSD) संजय मिश्रा के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम और अन्य आईपीसी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। उन्हें आज जांच कार्यालय (IO) के समक्ष पेश होने के लिए दंड प्रक्रिया संहिता (CrPC) की धारा 41A के तहत नोटिस भेजा गया है।

जारी किये गए नोटिस में कोलकाता के नारकेलडांगा पुलिस स्टेशन में दर्ज एक मामले का जिक्र है। दावा किया गया है, “जांच के दौरान यह पता चला है कि तथ्यों और परिस्थितियों का पता लगाने के लिए त्रिपुरा के मुख्यमंत्री से सवाल करने के लिए उचित आधार हैं।”

OSD संजय मिश्रा ने कोलकाता पुलिस थाने में मामला दर्ज होने पर आश्चर्य व्यक्त किया और दावा किया कि वह पिछले दो वर्षों में कोलकाता नहीं गए हैं। उन्होंने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा, “कोलकाता पुलिस ने मेरे खिलाफ फर्जी प्राथमिकी दर्ज की है।”

OSD मिश्रा IO के समक्ष पेश होने के लिए शुक्रवार को कोलकाता जायेंगे। संजय मिश्रा इस मामले में कथित तौर पर कानूनी उपाय तलाश रहे हैं। वह अदालत में प्राथमिकी को चुनौती दे सकते हैं क्योंकि त्रिपुरा पुलिस के माध्यम से उन्हें भेजे गए नोटिस में IO के सामने पेश होने में विफल रहने पर गिरफ्तारी की चेतावनी दी गई थी।

इस मामले ने बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच राजनैतिक खींचतान का एक और दौर शुरू कर दिया है। भाजपा ने इसे प्रतिशोध की कार्रवाई बताया। राज्य में शुक्रवार को अगरतला नगर निगम सहित 13 शहरी निकायों के चुनाव होने वाले हैं और राज्य में इस चुनाव को लेकर पिछले दिनों कई हिंसक घटनाएं दर्ज की गयी हैं।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV