अयोध्या में बदले जाएंगे चौराहों के नाम! अयोध्या महायोजना 2031 की समीक्षा बैठक में CM योगी ने दिए निर्देश!

सीएम योगी ने बैठक के दौरान कहा कि अयोध्या में चौराहों के नाम बदले जाएंगे. चौराहों के नए नाम त्रेतायुगीन ऋषियों, विदुषी नारियों पर के नाम पर रखें जाएंगे. उन्होंने बैठक में कहा कि महायोजना के मूल में हो ईज ऑफ लिविंग हो. इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि के पास के क्षेत्र को धार्मिक भू-उपयोग के रूप में प्रस्तावित किया जाए.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अयोध्या महायोजना 2031 को लेकर समीक्षा बैठक की. इस दौरान सीएम योगी ने अफसरों को कई दिशा निर्देश दिए. सीएम योगी की इस समीक्षा बैठक का मुख्य उद्देश्य अयोध्या महायोजना 2031 के तहत रामनगरी को आध्यात्म और सांस्कृतिक केंद्र बनाना है. इस दौरान उन्होंने कई बड़ी बातें कहीं.

सीएम योगी ने बैठक के दौरान कहा कि श्रीराम जन्मभूमि के पास के क्षेत्र को धार्मिक भू-उपयोग के रूप में प्रस्तावित किया जाए. उन्होंने कहा कि अयोध्या में चौराहों के नाम बदले जाएंगे. चौराहों के नए नाम त्रेतायुगीन ऋषियों, विदुषी नारियों पर के नाम पर रखें जाएंगे. सीएम ने कहा कि अयोध्या में चौराहों के नाम महान चरित्रों और भारतीय आदर्शों के नाम पर होंगे.

उन्होंने बैठक में कहा कि महायोजना के मूल में हो ईज ऑफ लिविंग हो. इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि के पास के क्षेत्र को धार्मिक भू-उपयोग के रूप में प्रस्तावित किया जाए. सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या महायोजना 2031 के तहत विकास कार्यों की प्राथमिकता तय की जानी चाहिए. बैठक के दौरान सीएम योगी ने आम आदमी की जरूरतों का ध्यान रखने की बात कही.

उन्होंने कहा कि अयोध्या में 24×7 शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. वेस्ट मैनेजमेंट की कार्ययोजना पर तेजी के साथ काम किया जाना चाहिए. बता दें कि अयोध्या महायोजना 2031 धर्मनगरी अयोध्या के सर्वांगीण विकास की एक योजना है जो अध्यात्म के साथ-देश की सांस्कृतिक विरासत से भी जुड़ा है. मंगलवार को इस महायोजना में अब तक हुए कार्यों में की प्रगति की समीक्षा की.

Related Articles

Back to top button
Live TV