देश में बढ़ रहा ओमिक्रॉन का खतरा, 26 राज्यों में मिले नए मामले…

देश में लगातार कोरोना के नए वैरियंट ओमिक्रॉन का संकट बढ़ता जा रहा है। अब तक देश के 26 राज्यों में ओमिक्रोन वैरियंट के मामले मिल चुके है। वही, देश में बीते 24 घंटे में कोरोना 90 हजार से ज्यादा नए मरीज़ आये। देश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 2 लाख 85 हज़ार के पार।भारत में बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस के 90,928 नए केस आये। देश में बीते 24 घंटे में 19,206 ठीक हुए 325 मौत हुई।देश में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 3,51,09,286 हुई।

बता दें, देश में कोरोना के कुल एक्टिव मरीजों की 2,85,401 हुई। देश में कोरोना से अब तक कुल 3,43,41,009 मरीज ठीक हुए। देश में कोरोना संक्रमण से अब तक कुल 4,82,876 मौत हुई। देश में कोरोना के टीके की अब तक कुल 1,48,67,80,227 डोज़ लगी। देश के 26 राज्यों में ओमिक्रोन वैरियंट फैला। देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2,630 हुई।महाराष्ट्र और दिल्ली में ओमिक्रोन के सबसे ज़्यादा मरीज़। महाराष्ट्र में 797 और दिल्ली में 465, राजस्थान में 236, केरला 234, कर्नाटका 226, गुजरात 204, उत्तर प्रदेश 31 है। ओमिक्रोन वैरियंट से अब तक कुल 995 मरीज़ ठीक हुए।

दिल्ली में कल कोरोना के 10,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए दिल्ली में कोरोनावायरस संक्रमण दर भी 10% के पार जा चुका है। दिल्ली में जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ने उसको देखते हुए दिल्ली सरकार की तरफ से कई कदम उठाए गए हैं। दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम को 40% बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने का निर्देश जारी किया।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि करना संक्रमण के मामले बढ़ रहे लेकिन जो पाबंदियां लगाई गई है। उसका पालन करना चाहिए उमेश रिलेशन में रह रहे मरीजों को घबराने की जरूरत नहीं है। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज घर के अन्य सदस्यों से खुद को अलग कर ले क्रॉस वेंटिलेशन वाले हवादार कमरे में रहे ट्रिपल लेयर का मास्क पहने साफ सफाई का ध्यान रखें। खुद को व्यस्त रखें परिवार और रिश्तेदारों से समय-समय पर बात करते रहे फोन के जरिए।

केंद्र सरकार की तरफ से भी हो होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के लिए एक दिशा निर्देश जारी किया जिसमें कहा कि 7 दिनों का होम आइसोलेशन हल्के और कम लक्षण वाले कोरोना मरीजों को करना होगा 7 दिन के बाद अगले 3 दिनों तक अगर होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज को बुखार नहीं आता है तो उसको करना टेस्ट की जरूरत नहीं है और वह हमारे सलूशन से बाहर आ सकता है।

Related Articles

Back to top button
Live TV