चलती ट्रेन में यात्रियों ने झपट्टा मार को दबोचा, खिड़की से लटका 15 किमी दूर खगड़िया तक ले गए यात्री, वीडियो वायरल

समस्तीपुर-कटिहार पैसेंजर ट्रेन जब बेगूसराय स्टेशन से रवाना हुई तब एक चोर ने ट्रेन के भीतर खिड़की के पास बैठे व्यक्ति के मोबाईल को झपट्टा मारकार छीनना चाहा लेकिन ऐन वक्त पर यात्री ने चोर का हाथ पकड़ लिया.

Desk: भारतीय रेल हमेशा इस बात को लेकर सूचना देती है कि पॉकेटमारों से सावधान. ये सूचना हर एक स्टेशन पर लिखी मिल जाती है. इसको लेकर रेलवे एनाउंसमेंट भी की जाती है. इस बीच बिहार से एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसको देखकर सभी हैरान है. दरअसल रेल यात्रीयों ने एक चोर को गजब तरीके से दबोचा. जिसको देखने के बाद लोग हैरान है. पूरा मामला बिहार के बेंगूसराय का बताया जा रहा है.

दरअसल समस्तीपुर-कटिहार पैसेंजर ट्रेन जब बेगूसराय स्टेशन से रवाना हुई तब एक चोर ने ट्रेन के भीतर खिड़की के पास बैठे व्यक्ति के मोबाईल को झपट्टा मारकार छीनना चाहा लेकिन ऐन वक्त पर यात्री ने चोर का हाथ पकड़ लिया. इस बीच ट्रेन चल दी. जैसे ही ट्रेन चली चोर चिल्लाने लगा लेकिन यात्री ने उसको नही छोड़ा. साथ बैठे एक और यात्री नें चोर का दूसरा हाथ भी पकड़ लिया. इस बीच ट्रेन ने रफ्तार पकड़ ली. हालांकि चोर चिल्लाता रहा कि उसको छोड़ दें वर्ना उसका हाथ टूट जाएगा लेकिन यात्रीयों नें उसे नही छोड़ा.

चोर को करीब 15 किलोमीटर यात्रीयों ने पकड़े रखा. बेगूसराय के साहेबपुर कमाल स्टेशन से खगड़िया तक यूं ही लटकाकर यात्री उसको लेकर गए. यात्रा के दौरान ट्रेन चलती रही और चोर लगातार मिन्नत करता रहा कि हाथ टूट जाएगा भइया… नहीं तो मर जाएंगे भइया. लेकिन यात्रियों ने उसे नहीं छोड़ा. खगड़िया स्टेशन पर यात्रीयों नें उसे जीआरपी के हवाले किया. युवक का नाम पंकज कुमार बताया जा रहा है. वह बेगूसराय के साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र का रहने वाला है. चोर के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया है.

यात्रीयों का कहना है कि वो चाहते तो चोर को ट्रेन की चैनपुलिंग कर छोड़ सकते थे जिससे उसको चोट भी नही लगती लेकिन यात्रीयों ने कहा कि उसको सबक सिखाने के लिए 15 किलोमीटर तक लटकाए रखा. दरअसल कई रेलवे स्टेशन पर इस प्रकार के झपट्टा मार इस फिराक में रहते है कि जैसे ही ट्रेन थोड़ी रफ्तार पकड़े वो झपट्टा मार कर लोगों के मोबाईल फोन समेत अन्य सामानों को उड़ा ले जाते है. एसे ही प्रयास में ये चोर भी था जिसको यात्रीयों नें पकड़ कर जीआरपी के हवाले कर दिया.

Related Articles

Back to top button