आयकर विभाग के चोरों ने फर्जी नौकरी दिलाने के नाम पर युवाओं को ठगा, कार्यालय पहुंचीं पुलिस तो मचाया ड्रामा!

आयकर विभाग लखनऊ के फर्जीवाड़े का शिकार हुए युवकों ने जब इसकी शिकायत पुलिस से की तो सुचना पा कर पुलिस मौके पर पहुंची. राजधानी लखनऊ की हजरतगंज पुलिस जैसे ही मौके पर पहुंचती है, इनकम टैक्स ऑफिस में हाईवोल्टेज ड्रामा शुरू हो जाता है. आरोपी अधिकारियों और कर्मचारियों ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और आयकर कार्यालय में ही हंगामा मच गया.

एक तरफ जहां देशभर में रोजगार को लेकर युवा परेशान हैं. ऐसे में भ्रष्ट प्रशासन और सरकारी तंत्र लोगों को लूटने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहा है. ताजा मामला आयकर विभाग लखनऊ से जुड़ा हुआ है. जहां भ्रष्टाचार और फर्जीवाड़े में डूबे हुए इनकम टैक्स विभाग की कलई खुल गई. युवाओं से विभाग में फर्जी नौकरी देने के नाम पर भारी वसूली की गई.

इस घिनौने कृत्य में आयकर विभाग लखनऊ और इसके भ्रष्ट अफसर तल्लीनता के साथ काम कर रहे थे. फर्जी नौकरी देने के नाम पर आयकर विभाग कार्यालय लखनऊ फर्जी रैकेट चल रहा है जहां युवाओं से पैसों की लूट की जा रही है. इसी फर्जी रैकेट का शिकार एक युवक ने भारत समाचार को बताया कि पैसे वसूलने के बाद युवाओं का फर्जी इंटरव्यू भी कराया जा रहा है.

इस इंटरव्यू को इनकम टैक्स विभाग में फर्जी नौकरी की चयन प्रक्रिया का एक हिस्सा बताया जा रहा है. शासन के नाक के नीचे चल रहे फर्जीवाड़े के इस खुले खेल में आयकर विभाग सर से लेकर पांव तक लिप्त है. इनकम टैक्स के अधिकारी और कर्मचारी भ्रष्टाचार एवं फर्जीवाड़े में शामिल हैं और गरीब युवाओं को विभाग में नौकरी लगवाने का झांसा देकर मोटी रकम वसूलने में संलिप्त है.

आयकर विभाग लखनऊ के फर्जीवाड़े का शिकार हुए युवकों ने जब इसकी शिकायत पुलिस से की तो सुचना पा कर पुलिस मौके पर पहुंची. राजधानी लखनऊ की हजरतगंज पुलिस जैसे ही मौके पर पहुंचती है, इनकम टैक्स ऑफिस में हाईवोल्टेज ड्रामा शुरू हो जाता है. आरोपी अधिकारियों और कर्मचारियों ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और आयकर कार्यालय में ही हंगामा मच गया.

बहरहाल, एक तरफ जहां देश और प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है ऐसे में आयकर विभाग जैसी सरकारी संस्था का ऐसा घिनौना चेहरा, तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार और फर्जीवाड़े को उजागर करके रख देता है. इस तरह के फर्जीवाड़े से आयकर विभाग ना केवल अपनी साख को दांव पर लगा रहा है वरन अपनी विश्वसनीयता पर भी सवालिया निशान लगा रहा है.

बता दें कि मामला इनकम टैक्स विभाग के आला अफसरों से जुड़ा हुआ है. इसलिए इस मामले में पुलिस की तरफ से अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है. हालांकि मौके पर पुलिस पहुंची हुई है और बड़े फर्जीवाड़े की जांच जारी है.

Related Articles

Back to top button
Live TV