Uttrakhand: इलाज को मंत्री और अधिकारी जा रहे निजी अस्पताल, प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल

उत्तराखंड में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था किस तरह बदहाल है ये किसी से छुपा नहीं। आलम ये है की प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और नौकरशाह निजी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं।

उत्तराखंड में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था किस तरह बदहाल है ये किसी से छुपा नहीं। आलम ये है की प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और नौकरशाह निजी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉक्टर शैलजा भट्ट सड़क हादसे में घायल होने के बाद निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रही हैं इस पर विपक्ष पूरी तरह से सरकार पर हमलावर हो गया है।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा है कि जिस तरह से कैबिनेट मंत्री और स्वास्थ्य विभाग की मुखिया शैलजा भट्ट निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रही हैं इसने सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह फेल हो चुकी है। मंत्रियों और अधिकारियों को भी सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था पर भरोसा नहीं है जिससे वह अपना इलाज प्राइवेट अस्पतालों में करवा रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा है कि जिस तरह से प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था खराब हो चुकी हैं वह किसी से छुपा नहीं है सबसे बुरा हाल पहाड़ों पर है जहां लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है लोगों को इलाज के लिए हल्द्वानी और देहरादून का रूख करना पड़ता है लेकिन सरकार है कि स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है।

Related Articles

Back to top button