Health Department Scam: स्वास्थ्य विभाग में घोटाला जारी, चोरी छिपे किया जा रहा तबादलों का निरस्तीकरण

स्वास्थय विभाग में सामने आये तबादले घोटाले में सरकार की तरफ से कोई खास एक्शन देखने को नहीं मिला। कुछ निचले कर्मचारियों पर कार्यवाई कर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है

स्वास्थय विभाग में सामने आये तबादले घोटाले में सरकार की तरफ से कोई खास एक्शन देखने को नहीं मिला। कुछ निचले कर्मचारियों पर कार्यवाई कर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। जबकि बड़े अफसरों पर कोई कार्यवाई नहीं की गयी है। अगर ये कहा जाये कि बड़े अफसों को बचने के लिए छोटे कर्मचारियों की कुर्वानी दी जा रही है तो गलत नहीं होगा।

इस स्वास्थ्य विभाग घोटाले के सामने आने के बाद भी कड़ी कार्रवाई न होने के कारण नए तबादलों में घोटाला सामने आ रहा है। चोरी छिपे डाक्टरों के तबादलों को रद्द किया जा रहा है। आज ही 29 सीनियर डॉक्टरों के तबादलों को रद्द किया गया है। इन डॉक्टरों का तबादला जून में ही हो गया था। लेकिन पिछले 2 दिनों से चोरी छिपे तबादलों को रद्द किया जा रहा है। भ्रष्टाचार के सामने आने के बाद उसे छिपाने के लिए बैकडोर से तबादलों का निरस्तीकरण किया जा रहा है। कल 16 और आज 29 डॉक्टरों के तबादलों का निरस्तीकरण किया गया है।

बता दें कि स्वास्थ्य विभाग में तबादलों से जुड़ा बड़ा स्कैंडल सामनें आया था. 500 से ज्यादा डॉक्टरों के तबादलों में गड़बड़ी पाई गई थी. प्रदेश में CMO और CMS के तबादलों में गड़बड़ी पाई गई थी. जिसके बाद ACS अमित मोहन प्रसाद सवालों के घेरे में आए थे. मगर उन पर वकीसी तरह की कोई कार्यवाई नहीं की गयी थी। जिसके बाद से बैकडोर से किये गए ताबदलों के निरस्तीकरण का कार्य भी जारी है।

Related Articles

Back to top button