Mainpuri Byelection : नेता जी को याद कर बोलीं डिंपल- ये मेरा चुनाव नहीं क्षेत्र की जनता का…

डिंपल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ये मेरा चुनाव नहीं है. मैनपुरी की धरती नेता जी की कर्मभूमि रही है, नेताजी ने अपने कितने साल यहां पर विकास कार्य कराए हैं. यहां के लोगों को आगे बढ़ाने का काम किया है. ये नेता जी का चुनाव है और आप सभी का चुनाव होने जा रहा है.

मैनपुरी उपचुनाव को लेकर सपा ने पूरी ताकत झोंक रखी है. इसी कड़ी में डिंपल ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैनपुरी का उपचुनाव आगामी पांच तारीख को होने जा रहा है. यह पहला ऐसा चुनाव है जिसमें हमारे आदरणीय नेता जी नहीं होंगे. डिंपल ने कहा कि हम सब जानते हैं कि ये चुनाव बहुत जल्द करा दिए गए हैं लेकिन हम निर्वाचन आयोग का सम्मान करते हैं.

उन्होंने कहा, हालांकि सबके मन में ये विचार तो आता ही होगा कि आखिर क्या जल्दी थी? चुनाव इतनी जल्दी कराने की क्या वजह थी? उन्होंने कहा कि नेता जी का परिवार केवल हम ही नहीं थे उनका परिवार यहां की सारी जनता थी. मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र की सारी जनता नेता जी का परिवार थी.

डिंपल ने सभा को संबोधित करते हुए आगे कहा कि अभी हम लोग अपने दुःख से निकल नहीं पाए थे, तभी ये चुनाव होने जा रहा है. मेरा मानना है कि ये मेरा चुनाव नहीं है, मैनपुरी की धरती नेता जी की कर्मभूमि रही है, नेताजी ने अपने कितने साल यहां पर विकास कार्य कराए हैं. यहां के लोगों को आगे बढ़ाने का काम किया है. यहां के लोगों को सम्मान देने का काम किया है. सबको बुलाकर आगे ले जाने का काम किया है.

ऐसे में ये चुनाव मेरा चुनाव है, ये नेता जी का चुनाव है और आप सभी का चुनाव होने जा रहा है. डिंपल ने आगे कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि एक-एक मत, एक-एक बटन जब साइकल पर दबेगा तो आने वाली पांच तारीख को हम सभी नेता जी को श्रद्धांजलि देने का काम करेंगे और एक ऐसा ऐसा इतिहास रचेंगे.

डिंपल ने कहा कि इस उपचुनाव में हम एक ऐसी लकीर खींच लेंगे कि इतिहास में आने वाले पांच तारीख को कभी मिटाया नहीं जा सकेगा. उन्होंने कहा कि जितने यहां बुजुर्ग खड़े हैं, मेरा मानना है कि उनका कोई ना कोई किस्सा नेताजी के साथ अवश्य रहा होगा. और अब जबकि नेताजी हमारे बीच नहीं है, लेकिन वो हमारे हृदय में सदैव रहेंगे.

Related Articles

Back to top button
Live TV