मौर्या ने अखिलेश का हाथ थामा और पाठक उनके गले लग गए, नेता जी के अंतिम संस्कार में शामिल हुए दोनो उप मुख्यमंत्री…

अखिलेश डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के गले लग गए और बेहद भावुक हो गए. अखिलेश ने अपने उस पिता को खोया है जिनकी उंगली पकड़ कर उन्होंने चलना सीखा होगा.

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने बीते 10 अक्टूबर को गुरुग्राम के मेदांता में अंतिम सांस ली. सीएम योगी समेत भारतीय राजनीती के तमाम दिग्गज चाहें वो सत्ता पक्ष के दिग्गज हो या विपक्ष के, सब नेता दिवंगत मुलायम सिंह के पैतृक गांव सैफई पहुंचे और नेताजी को भावभीनीं श्रद्धांजलि दी. इसी कड़ी में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के दोनों डिप्टी सीएम भी सैफई के दिवंगत बेटे को श्रद्धांजलि देने पहुंचे.

उन्होंने अखिलेश का हाथ थामा तो सपा अध्यक्ष समेत सभी लोग भावुक हो गए. अखिलेश डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के गले लग गए और बेहद भावुक हो गए. अखिलेश ने अपने उस पिता को खोया है जिनकी उंगली पकड़ कर उन्होंने चलना सीखा होगा. वास्तव में किसी भी बेटे के लिए ये पल बहुत मुश्किल होता है. पिता के जाने से जीवन में जो खालीपन आ जाता है उसकी भरपाई कोई नहीं कर सकता.

बहरहाल, अपने चहेते नेताजी के अंतिम दर्शन के लिए सैफई के मेला ग्राउंड में लाखों की संख्या में जनता का हुजूम उमड़ पड़ा. नेता जी अंतिम दर्शन हेतु उनका पार्थिव शरीर मेला ग्राउंड सैफई में रखा गया जहां लाखों की संख्या में लोगों की भीड़ उनकी अंतिम झलक पाने के लिए उमड़ पड़ी. धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव के अंतिम संस्कार की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है और कुछ देर अखिलेश नेता जी को मुखाग्नि देंगे.

Related Articles

Back to top button