आस्था के नाम पर कमाई का अनोखा तरीका, ऑनलाइन मूर्तियों को मंगा खेत में गाड़ रचा ढ़ोंग, पर्दाफाश

लोग आस्था के नाम पर कमाई के लिए रोज नया नया तरीका अपनाते रहते हैं। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसे सुने आप भी हैरान रह जायेंगे।

Desk: लोग आस्था के नाम पर कमाई के लिए रोज नया नया तरीका अपनाते रहते हैं। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसे सुने आप भी हैरान रह जायेंगे। उन्नाव जिले में एक पिता पुत्र ने आस्था के नाम पर कमाई करने का एक अनोखा तरीका खोज निकाला और आस्था का हाल यह रहा कि सैकड़ों भक्तों की कतारें भी लग गई।

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिलें में पिता पुत्र ने आस्था के नाम पर कमाई करने के लिए ऑनलाइन मूर्तीयों को मंगाकर फिर उसको खेत में गाड़ दिया और फिर लोगों के सामने खेत की खुदाई में मूर्तियों के प्रकट होने का ढ़ोंग कर जनता की आस्था से खिलवाड़ करने लगे। खेत की खुदाई में मूर्ती के प्रकट होने का सूचना पर सैकड़ों भक्तो की कतारें लग गई। लोग फूल माला और चढ़ावा लेकर पूजा के लिए लाइन में लग गए।

आस्था के साथ खिलवाड़ करके कमाई करने की पिता पुत्र ने जो साजिश रची उस पर पुलिस ने भी विश्वास कर लिया। मामले की जानकारी जब पुरातत्व विभाग को दी गई तो सारा मामला खुल कर सामने आ गया। पुरातत्व विभाग की जाँच में पता चला कि यह मूर्ती ऑनलाइन साइट से मंगवाई गईं थी। जिसके बाद पुलिस ने पिता पुत्र को हिरासत में लेकर आग की कार्रवाई शुरू कर दी है।

सीओ बांगरमऊ पंकज सिंह ने बताया की यह मामला आसीवन थाना क्षेत्र के महमूदपुर गांव का है वहां के रहने वाले अशोक और उनके दो लड़के बीते 2 दिनों से लोगों को बहला फुसला रहे थे कि उनको कोई सपना आया है जिसके माध्यम से उन्होंने खेत में खुदाई की है और खुदाई में मूर्तियां निकली हुई है। वे लोग वहां पर मंदिर स्थापित करना चाह रहे थे। पहले तो उनके समझाया गया बाद में मामले की जांच करने पर पाया गया कि यह मूर्तियां एक ऑनलाइन साइट से मनाई गई है जिसके प्रमाण भी मिल गए हैं।

Related Articles

Back to top button