अयोध्या का छठा दीपोत्सव इस बार स्थापित करेगा नया कीर्तिमान, पीएम मोदी करेंगे राजतिलक, बनेगा विश्व रिकॉर्ड

रामनगरी अयोध्या में दीपोत्सव की धूम है। पूरी अयोध्या राममय हो गई है। जहां दीपोत्सव में 17 लाख दीप प्रज्वलित किए जाएंगे तो वही अयोध्या के लगभग 8 हजार मठ मंदिरों में हजारों की संख्या में दीप प्रज्वलित होंगे। अयोध्या का छठा दीपोत्सव इस बार नया कीर्तिमान स्थापित करने वाला है। पहली बार प्रधानमंत्री मोदी इसका साक्षी बनेंगे तो 17 लाख दीप प्रज्ज्वलित कर विश्व रिकॉर्ड बनाने की भी तैयारी है। राम जन्मभूमि स्थल को फूलों से सजाया गया है। साकेत डिग्री कॉलेज से राम की पैड़ी तक फूलो से सजाया गया है।

हमें खुशी है कि प्रधानमंत्री अयोध्या आ रहे हैं- इकबाल अंसारी

दीपोत्सव में पीएम मोदी के आगमन पर बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने भारत समाचार से बात चीत करते हुए कहा कि हमें खुशी है कि प्रधानमंत्री अयोध्या आ रहे हैं। यहां के रहने वालों के लिए बड़ी सौभाग्य की बात पीएम का आगमन। दीपोत्सव में पीएम-सीएम आ रहे हैं यह मेरे लिए ख़ुशी की बात है। किसी भी त्योहार को हिंदू-मुस्लिम को मिलकर एकसाथ मनाना चाहिए। त्योहारों में कोई भेदभाव नहीं हम दिवाली भी मनाएंगे और होली भी।

जनता की भावनाओं का किया जाए पूरा सम्मान

तैयारियों को लेकर सीएम योगी ने बृहस्पतिवार को बैठक करते हुए खा था कि इस वर्ष का दीपोत्सव ऐतिहासिक होगा। विगत पांच वर्ष से लगातार भव्य-दिव्य अयोध्या दीपोत्सव का आयोजन हो रहा है। हर वर्ष रिकॉर्ड दीपों का प्रज्ज्वलन कर यह आयोजन वैश्विक मंच पर नई ऊंचाइयों को स्पर्श कर रहा है। इस वर्ष हम अपने ही पिछले रिकॉर्ड को तोड़कर एक नया कीर्तिमान रचेंगे। सीएम ने कहा कि दीपोत्सव उल्लास और उत्साहका अवसर है। बड़ी संख्या में स्थानीय जनता और देश-विदेश से पर्यटक इसमें सहभागिता के उत्सुक होंगे। ऐसे में जनता की भावनाओं का पूरा सम्मान किया जाए। आमजन के आवागमन, बैठने की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए। भीड़ नियंत्रण में लगे पुलिस बल का व्यवहार सरल और सहयोगी हो। किसी भी श्रद्धालु अथवा पर्यटक को अनावश्यक परेशानी न उठानी पड़े।

जगह-जगह पर होगा समारोह का सीधा प्रसारण

दीपोत्सव के दौरान दीप प्रज्ज्वलित करने के बाद जब तक दीये की बाती स्वतः नहीं बुझती उसकी देखरेख की जानी चाहिए। समारोह संपन्न होने के उपरांत दीपकों को इकट्ठा करने के लिए वालंटियर तैयार रखे जाएं। अयोध्या जनपद में जगह-जगह पर समारोह का सीधा प्रसारण किया जाना चाहिए, ताकि अधिकाधिक जन दीपोत्सव से जुड़ सकें। मुख्य समारोह संपन्न होने के बाद लोग आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकें, इसके लिए समुचित प्लानिंग कर ली जाए। महिलाओं, बच्चों और विदेशी कलाकारों को सुरक्षित घर तक पहुंचाने की व्यवस्था हो। भगदड़ की स्थिति न बने, पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की जानी चाहिए। मंदिरों में भीड़ के सम्भावना के दृष्टिगत 24×7 पुलिस बल की तैनाती की जाए।सीएम ने कहा कि दीपोत्सव के सुचारु आयोजन के लिए जनपद अयोध्या में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।

Related Articles

Back to top button
Live TV