गलवान पर अपने बयान से पलटे राहुल गांधी, अब कही यह बड़ी बात….

लद्दाख की गलवान घाटी में चीन को एक कड़ा संकेत देते हुए भारतीय सैनिकों ने नए साल के अवसर पर पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में तिरंगा फहराया, सैनिकों को एक चट्टानी और पहाड़ी इलाके में तिरंगा फहराते देखा जा सकता है जहां जून 2020 में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी।

 लद्दाख की गलवान घाटी में चीन को एक कड़ा संकेत देते हुए भारतीय सैनिकों ने नए साल के अवसर पर पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में तिरंगा फहराया, सैनिकों को एक चट्टानी और पहाड़ी इलाके में तिरंगा फहराते देखा जा सकता है जहां जून 2020 में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी।

इससे पहले नये साल के मौके पर चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने चीनी सैनिकों का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा था, चीनी सैनिक भारतीय सीमा के पास गलवान घाटी में चीन के नागरिकों को नए साल की शुभकामनाएं दे रहे हैं। इस वीडियो में चींन के सैनिक अपने राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दे रहे थे। जिसके बाद यह वीडिया सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

और इसी वीडियो को लेकर राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट कर लिखा था, “गलवान पर हमारा तिरंगा ही अच्छा लगता है. चीन को जवाब देना होगा. मोदी जी, चुप्पी तोड़ो!”। इसके बाद बीजेपी ने उन्हें आड़े हाथों लिया और उनके इस बयान को सेना का मनोबल गिराने वाला बताया था। जिकसे बाद आज राहुल गांधी ने गलवान में भारतीय जावनो के तिरंगा फैलाने वाली फोटो शेयर करते हुए लिखा, भारत की पवित्र भूमि पर हमारा तिरंगा ही फहराता अच्छा लगता है।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV